Articles

Google Drive क्या है और इसका उपयोग कैसे करते है हिंदी में जानकारी

गूगल ड्राइव, या कहें कि एक क्लाउड-स्टोरेज सेवा के बारे में आप जरूर जानते हैं. और अनजाने में ही सही इसका उपयोग अपना डेटा स्टोर करने के लिए भी कर रहे होंगे.

एंड्रॉइड स्मार्टफ़ोन एवं टैबलेट्स यूजर्स गूगल ड्राइव से अपरिचित नहीं है. वे तो अपने फोटो, वीडियो, वाट्सएप चैट का बैकअप यहीं सेव रखते हैं. और उन्हे पता भी नहीं चलता.

आप भी इस क्लाउड-स्टोरेज सेवा का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको गूगल ड्राइव के बारे में जानकारी होनी चाहिए.

यदि आप गूगल ड्राइव के बारे में अभी तक नहीं जानते है तो यह लेख आपके लिए ही लिखा गया है. साथ में इस क्लाउड-स्टोरेज सर्विस का उपयोग करने वाले यूजर्स भी अपनी स्किल को मांज सकते है.

क्योंकि, इस लेख में मैं आपको गूगल ड्राइव के बारे में पूरी जानकारी दें रहा हूँ. अध्ययन की सुविधा के लिए इस लेख को निम्न भागों में बांट दिया गया है.

Google Drive क्या है?

गूगल ड्राइव एक क्लाउड-स्टोरेज, फाइल होस्टिंग एवं सिंक्रनाइजेशन सर्विस है. जिसे गूगल द्वारा 24 अप्रले, 2012 को लॉन्च किया गया था. गूगल ड्राइव पर आप पर्सनल फोटो, वीडियो, ओडियो, डॉक्युमेंट्स, फाइल आदि स्टोर एवं एक्सेस कर सकते है. जिसे गूगल अकाउंट बनाकर मुफ्त इस्तेमाल किया जाता हैं.

Google Drive Kya Hai

कम्प्युटर तथा लैपटॉप पर इसका वेब वर्जन उपलब्ध है. जिसे गूगल ड्राइव की आधिकारिक वेबसाइट के जरिए एक्सेस किया जाता है.

एंड्रॉइड स्मार्टफ़ोन, टैबलेट्स तथा अन्य छोटे डिवाइसों के लिए इसका मोबाइल एप विकसित किया गया है. जिसे संबंधित ऑपरेटिंग सिस्टम के एप स्टोर से मुफ्त डाउनलोड किया जा सकता है. और गूगल अकाउंट बनाकर फाइल एवं डेटा स्टोर करना भी तुरंत आरंभ कर सकते है.

इस क्लाउड-स्टोरेज सेवा को गूगल वन (गूगल की एक सब्सक्रिप्शन आधारित सेवा) के साथ उपलब्ध करवाया गया है. और प्रत्येक पर्सनल अकाउंट पर 15 जीबी मुफ्त क्लाउड-स्टोरेज दिया जाता है.

पर्सनल कोटा पूरा होने के बाद यूजर अपनी जरूरत के अनुसार इस स्टोरेज को बढ़वा भी सकता है. जो मासिक तथा वार्षिक प्लान के आधार पर उपलब्ध है.

गूगल ड्राइव G Suite का मुख्य उत्पाद है. जिसके साथ गूगल डॉक्स, गूगल शीट, गूगल स्लाइड्स, गूगल फॉर्म, जीमेल तथा अन्य गूगल सर्विसेस साथ मिलती है.

जिन्हे थर्ड-पार्टी एप्स जोड़कर ओर बढ़ाया जा सकता है. आप क्रोम स्टोर में मौजूद एप्स तथा एक्सटेंशंस को जोड़कर गूगल ड्राइव के फंक्शन्स में इजाफा कर सकते है.

गूगल ड्राइव अन्य क्लाउड-स्टोरेज सेवाओं जैसे माइक्रोसॉफ्ट की वनड्राइव, ड्रॉपबॉक्स, एप्पल आइक्लाउड (iCloud) आदि के समान ही क्लाउड-स्टोरेज सेवा उपलब्ध करवाती है.

इसलिए, फाइल एवं डॉक्युमेंट्स के अलावा यूजर्स की सर्च हिस्ट्री, गूगल असिस्टेंट डेटा, वॉइस सर्च डेटा, जीमेल में प्राप्त ईमेल आदि डेटा भी गूगल ड्राइव द्वारा उपलब्ध फ्री कोटा में गिना जाता है.

क्या आप जानते हैं?

गूगल ड्राइव को 1 अरब यानि 1 बिलियन से ज्यादा लोग इस्तेमाल करते है. यह संख्या जनसंख्या के आधार पर चीन और भारत के बाद तीसरा सबसे बड़ा देश बनाती है.

गूगल ड्राइव के मुख्य फीचर्स – Main Features of Google Drive in Hindi

  • मुफ्त क्लाउड स्टोरेज
  • सुरक्षित और उपयोग में आसान
  • ऑफलाइन वर्क संभव
  • डेटा शेयरिंग सुविधा
  • अन्य गूगल एप्स पर काम करें
  • फोल्डर अपलोड करें
  • गूगल फोटो
  • डॉक्युमेंट स्कैन करें
  • जीमेल अटैचमेंट्स सेव करें
  • थर्ड पार्टी एप जोड़े
  • फाइल्स का पूराना वर्जन देंखे
  • डेटा सर्च करें

#1 मुफ्त क्लाउड स्टोरेज

गूगल ड्राइव के साथ सभी यूजर्स को 15 जीबी क्लाउड-स्टोरेज मुफ्त मिलती है. जिसका इस्तेमाल वे डॉक्युमेंट्स, फाइल्स स्टोर करने के अलावा अन्य प्रकार का डेटा क्लाउड पर सेव करने के लिए कर सकते है.

जीमेल, गूगल फोटोज जैसे एप्स का डेटा भी गूगल ड्राइव में गिना जाता है. इसलिए, आपके मेल तथा अपलोड डेटा हमेशा आपके साथ बना रहता है. जिसे आप कभी भी, कहीं से भी एक्सेस कर सकते है.

आपका पर्सनल कोटा पूरा होने के बाद यानि 15 जीबी स्टोरेज फुल होने के बाद फीस देकर स्टोरेज में बढ़ोतरी करवाई जा सकती है.

यह सेवा गूगल वन के जरिए सब्सक्रिप्शन के आधार पर उपलब्ध है. आप अपनी जरूरत का प्लान सेलेक्ट करके स्टोरेज बढ़वाकर क्लाउड स्टोरेज की आजादी का आनंद ले सकते है.

गूगल ड्राइव के सभी प्लान गूगल वन स्टोरेज सर्विस के जरिए उपलब्ध करवाएं जाते है. जो 100 जीबी से लेकर 30 टीबी तक जाते है. यानि आप 30 टीबी डेटा क्लाउड पर सेव करके रख सकते है. जिसके लिए आपको लगभग ₹20,000 महिना चुकाना पड़ेगा. नीचे गूगल ड्राइव के स्टोरेज प्लान और प्राइस के बारे में विस्तार से बताया गया है.

#2 सुरक्षित और उपयोग में आसान

गूगल ड्राइव को आप मोबाइल एप तथा वेब एड्रेस के जरिए एक्सेस कर सकते है. इसके लिए आपके पास एक इंटरनेट कनेक्टेड डिवाइस होना चाहिए बस.

आप गूगल अकाउंट से लॉगिन करके अपने फोटो अपलोड करना शुरु कर देते है और अपने मोबाइल फोन में स्टोर डेटा का सुरक्षित बैकअप भी बना सकते हैं.

इस क्लाउड सर्विस पर स्टोर डेटा हमारे लोकल कम्प्युटर में सेव डेटा से ज्यादा सुरक्षित होता है.

जी हाँ! आपने सही पढ़ा गूगल डेटा हाउस की कड़ी सुरक्षा और स्मार्ट टेक्नोलॉजी के बलबूते यूजर्स को एक सुरक्षित, तेज और आसान ऑनलाइन डेटा स्टोरेज सर्विस मुहैया करा पाता है.

#3 ऑफलाइन वर्क संभव

गूगल ड्राइव पर ऑफलाइन काम कैसे करें?

यदि आप इस पैराग्राफ को गूगल करेंगे तो आपको सैंकड़ों रिजल्ट मिल जाएंगे. जिनमें गूगल ड्राइव पर ऑफलाइन काम करने के बारे में विस्तार से समझाया हुआ है.

Number of Google Search Results

इसका मतलब हुआ गूगल ड्राइव पर ऑफलाइन काम किया जा सकता है. बस सेटिंग में जाकर ऑफलाइन वर्क को चालु करने की देर होती है.

ऑफलाइन काम करने पर इंटरनेट कनेक्शन से जुड़ने पर सारा डेटा ऑनलाइन ऑटोमैटिक सिंक हो जाता है. यानि ड्राइव में अपलोड हो जाता है. आप फिर किसी अन्य डिवाइस में भी इस डेटा को एक्सेस कर सकते है.

#4 डेटा शेयरिंग सुविधा

गूगल ड्राइव डेटा को वेब लिंक के जरिए सार्वजनिक उपलब्ध करवाया जा सकता है. और आप चाहे तो केवल एक व्यक्ति विशेष तक सीमित रह सकते है.

यदि आपके पास कोई विशेष जानकारी है जिसे आप अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाना चाहते है तो बिना ब्लॉग बनाए शेयरेबल लिंक प्राप्त करके ऐसा चुटकियों में कर सकते है.

जो लिंक आपको प्राप्त होती है इस विशेष लिंक को पब्लिक में शेयर कर दीजिए. आपका डॉक्युमेंट सार्वजनिक उपलब्ध हो जाएगा.

आप चाहे तो किसी भी फ़ाइल अथवा डॉक्युमेंट की एक्सेस को नियंत्रित करके उसे कुछ ही लोगों तक सीमित करके दायरा छोटा भी कर सकते है.

#5 अन्य गूगल एप्स पर काम करें

गूगल ड्राइव केवल एक क्लाउड स्टोरेज एक्सेस करने का एप नहीं है. यह G Suite का मुख्य हिस्सा है. जिससे अन्य एप्स जुड़े रहते है.

आप गूगल ड्राइव के जरिए निम्न एप्स को एक टैप में एक्सेस कर पाते है.

  • गूगल डॉक्स – यह गूगल का एक वर्ड प्रोसेसिंग एप है जिसके जरिए आप डॉक्युमेंट्स बनाते है. इसकी तुलना आप माइक्रोसॉफ्ट वर्ड से कर सकते है.
  • गूगल शीट्स – यह गूगल का ऑनलाइन स्प्रेडशीट प्रोग्राम है.
  • गूगल स्लाइड्स – यह प्रेजेंटेशन प्रोग्राम है. जो बिल्कुल माइक्रोसॉफ्ट पावरपॉइंट के समतुल्य है.
  • गूगल फॉर्म – ऑनलाइन फॉर्म बनाने का प्लैटफॉर्म है. जिन्हे वेबलिंक के जरिए एक्सेस किया जाता है.
  • गूगल ड्रॉइंग – गूगल ड्रॉइंग एक ऑनलाइन आकृति तथा ड्रॉइंग बनाने का प्रोग्राम है.
  • गूगल साइट्स – ब्लॉगर की भांति गूगल साइट्स भी गूगल का वेबसाइट बिल्डर प्रोग्राम है.
  • अन्य एप्स – ऊपर वर्णित एप्स के अलावा दर्जनों अन्य एप्स गूगल ड्राइव के जरिए एक्सेस किये जा सकते है. आप अपनी पसंद और जरूरत के अनुसार थर्ड पार्टी एप्स को गूगल ड्राइव से कनेक्ट कर सकते है.

#6 फोल्डर अपलोड करें

गूगल ड्राइव का यह फीचर डेटा को समूह में अपलोड करने की सुविधा प्रदान करता है. आप पूरे के पूरे फोल्डर को अपलोड करके अपना कीमति समय बचा सकते है.

फोल्डर अपलोड करने पर फोल्डर का नाम भी बदलना नहीं पड़ता है. जो नाम आपने दे रखा था वहीं नाम फोल्डर को स्वत: दे दिया जाता है. इसलिए, आपको अपलोड किए गए फोल्डर ढूँढ़ने में दिक्कत नहीं आती है.

#7 गूगल फोटो

गूगल फोटो आपके स्मार्टफोन द्वार कैप्चर किए गए फोटूओं का बैकअप लेने का काम करता है. जिन्हे आप डेस्कटॉप तथा लैपटॉप पर photos.google.com पर जाकर एक्सेस कर पाते हैं.

यानि मोबाइल में खींचे गए फोटू को कम्प्युटर में कॉपी करने की जरूरत खत्म.

आप जिन फोटूओं को डायरेक्ट गूगल ड्राइव में अपलोड करते है उन्हे भी गूगल फोटो एप के जरिए एक्सेस कर सकते है.

#8 डॉक्युमेंट स्कैन करें

गूगल ड्राइव में डॉक्युमेंट स्कैन करने का टूल दिया जाता है. जिसकी बदौलत आप किसी भी ग्राफिक, डॉक्युमेंट को ड्राइव में स्कैन करके पीडीएफ फॉर्मेट में सेव कर सकते है.

#9 जीमेल अटैचमेंट्स सेव करें

आपने जीमेल के द्वारा बहुत मेल भेजे होंगे. और प्राप्त किए भी होंगे.

जब किसी मेल में कोई अटैचमेंट आता है तो उसे डायरेक्ट ओपन करके इस्तेमाल करते है.

मगर, क्या आप जानते है जीमेल अटैचमेंट्स को सीधे गूगल ड्राइव में डाउनलोड किया जा सकता है. और सुरक्षित बैकअप लेकर भावि नुकसान से बच सकते है.

Save to Google Drive Button in Gmail Attachment

#10 थर्ड पार्टी एप जोड़े

गूगल ड्राइव के साथ आप G Suite पैकेज में मिलने वाले सभी एप्स का मुफ्त इस्तेमाल कर सकते है. साथ में सैकड़ों अन्य उपयोगी एप्स भी जोड़ सकते है.

इन एप्स को आप गूगल क्रोम स्टोर में मौजूद इनके एक्सटेंशनों के जरिए जोड़कर अपने काम की स्पीड और तरीका में बदलाव कर सकते है.

#11 फाइल्स का पूराना वर्जन देंखे

गूगल ड्राइव में सेव डॉक्युमेंट्स पर काम करने के बाद सेव करने पर भी उसका पूराना वर्जन सेव रहता है जिसे डॉक्युमेंट हिस्ट्री भी कहते है.

आप दिनांक तथा यूजर्स के अनुसार डॉक्युमेंट में किए गए बदलावों की छँटनी करके श्रेणीयों में बांट सकते है और पता लगा सकते है कि किस यूजर द्वारा क्या बदला गया है.

#12 डेटा सर्च करें

यदि आपको अपनी जरूरी फाइल अथवा डॉक्युमेंट ढूँढ़ने में दिक्कत हो रही है तो आप गूगल ड्राइव में टॉप पर उपलब्ध सर्च बॉक्स में अपना फाइल नाम लिखकर आसानी से फाइल तथा डॉक्युमेंट्स ढूँढ़ सकते है.

यदि किसी डॉक्युमेंट में आपको कोई नाम नहीं मिल रहा है तो तब उस नाम को टाइप करके सर्च करेंगे तो उस नाम से संबंधित सभी फाइलें, फोटू, डॉक्युमेंट्स आदि सर्च परिणाम में आ जाएंगे.

गूगल ड्राइव का उपयोग कैसे करें – How to Use Google Drive in Hindi?

गूगल ड्राइव का उपयोग करना बहुत आसान है. आप अन्य कम्प्युटर सॉफ़्टवेयर तथा मोबाइल एप की तरह ही इस सर्विस का इस्तेमाल कर सकते है.

मैं आपको गूगल ड्राइव क्लाउड-सर्विस को उपयोग करने के दो मुख्य तरीके बता रहा हूँ (वैसे दो से ज्यादा तरीके मौजूद है). ये दोनों तरीके बहुत सरल और सबसे ज्यादा लोकप्रिय है. आप एक बार इस्तेमाल करते ही गूगल ड्राइव एक्सेस करना सीख जाएंगे.

  • Google Drive Mobile App
  • Google Drive Web

#1 Google Drive Mobile App

आप जानते है कि एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम पर गूगल का एकाधिकार है. इसलिए, सभी एंड्रॉइड डिवाइसों में गूगल ड्राइव एप प्री-इंस्टॉल्ड दिया जाता हैं.

यूजर्स जैसे ही अपना गूगल अकाउंट स्मार्टफोन से कनेक्ट करता है. गूगल ड्राइव Gmail एवं Google Photos के साथ आपके महत्वपूर्ण तथा उपयोगी पर्सनल डेटा को स्टोर करना शुरु कर देती है.

एंड्रॉइड के अलावा आइफोन, विंडोज़ फ़ोन तथा अन्य स्मार्टफोन प्लैटफॉर्म्स के लिए मोबाइल एप विकसित किया गया है. जिसे संबंधित प्लैटफॉर्म्स के एप स्टोर से मुफ्त डाउनलोड किया जा सकता है.

अब सवाल आता है कि मेरे फोन में तो गूगल ड्राइव एप मौजूद ही नहीं तो मैं इसका उपयोग कैसे करुँ?

यदि किसी कारणवश आपके फोन में गूगल ड्राइव एप इंस्टॉल्ड नहीं है तो आप इस एप को गूगल प्ले से मुफ्त डाउनलोड कर सकते है. जिसका तरीका नीचे बता रहा हूँ.

How to Download and Install Google Drive App in Hindi

Step: #1 -सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में इंस्टॉल्ड प्ले स्टोर एप पर टैप करके उसे ओपन कर लिजिए.

Step: #2 – अब सर्च बॉक्स में “google drive” टाइप करके या फिर बोलकर सर्च कीजिए.

Step: #3 – प्राप्त परिणामों में से गूगल ड्राइव एप पर टैप कीजिए.

Step: #4 – ऐसा करते ही आप एप पेज पर पहुँच जाएंगे. अब यहाँ मौजूद “Install” बटन पर टैप कीजिए. यहाँ टैप करते ही एप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा.

Step: #5 – एप पूरी तरह डाउनलोड होने के बाद अपने आप इंस्टॉल हो जाता है. इंस्टॉल होते ही आपके सामने “Open” बटन आ जाएगा. इस बटन पर टैप करेक गूगल ड्राइव को ओपन करें और गूगल अकाउंट से साइन-इन करके इस्तेमाल करना शुरु करें.

गूगल ड्राइव के साथ आप गूगल डॉक्स, गूगल शीट्स, गूगल स्लाइड्स जैसे दर्जनों एप्स का इस्तेमाल एक ही एप से कर सकते हैं. मगर, मोबाइल पर इन सभी एप्स को अलग से इंस्टॉल करना पड़ता है.

मान लिजिए, आप मोबाइल फोन से गूगल डॉक्स का इस्तेमाल करना चाहते है तो गूगल ड्राइव से इसे एक्सेस करने के लिए आपके स्मार्टफोन में गूगल डॉक्स मोबाइल एप इंस्टॉल होना चाहिए. तभी आप डॉक्युमेंट बना सकते है.

इसलिए मोबाइल डिवाइसों में गूगल ड्राइव एप इंस्टॉल करते समय इस बात का जरूर ध्यान रखें. और जरूरत के हिसाब से अन्य गूगल एप्स साथ-साथ ही इंस्टॉल करना ना भूलें.

#2 Google Drive Web

गूगल ड्राइव का वेब वर्जन किसी भी इंटरनेट कनेक्टेड डिवाइस के माध्यम से कहीं से भी एक्सेस किया जा सकता है. इसके लिए किसी एप या डेस्कटॉप सॉफ्टवेयर की जरुरत भी नही रहती है.

आप इस क्लाउड सेवा को निम्न वेब एड्रेस पर जाकर आसानी से इस्तेमाल कर सकते है.

https://drive.google.com

इस वेब एड्रेस पर क्लिक करें या फिर इसे वेब ब्राउजर की एड्रेस बार में टाइप करके सर्च करें. आप गूगल ड्राइव के होमपेज पर पहुँच जाएंगे.

Google Drive Homepage

यहाँ पर जाकर पर्सनल या बिजनेस इन दो विकल्पों में से पर्सनल पर क्लिक करके आगे बढ़े.

ऐसा करने पर आपसे लॉगिन करने के लिए भी कहाँ जा सकता है. इसलिए, गूगल अकाउंट से लॉगिन जरूर करें.

ध्यान दें

यदि आप इस वेब एड्रेस को क्रोम ब्राउजर में ब्राउज करेंगे तो आप लॉगिन किए बगैर गूगल ड्राइव इस्तेमाल कर सकेंगे. किसी अन्य ब्राउजर में आपको लॉगिन करना ही पड़ेगा.

गूगल ड्राइव का डेस्कटॉप एप भी उपलब्ध है. मगर, गूगल द्वारा विंडोज़ एवं आइओएस के लिए मौजूद इस डेस्कटॉप सॉफ्टवेयर का सपोर्ट मई, 2018 के बाद बंद कर दिया गया है. इसलिए, बेहतर यहीं है कि गूगल ड्राइव को वेब के जरिए ही एक्सेस किया जाए.

गूगल ड्राइव से संबंधित सामान्य सवाल-जवाब – Some Common FAQs about Google Drive in Hindi

सवाल #1 – गूगल ड्राइव में किस तरह का डेटा स्टोर किया जा सकता है?

जवाब – गूगल ड्राइव पर मल्टीमीडिया डेटा के साथ फाइल, डॉयुमेंट्स आदि डेटा स्टोर कर सकते है.

सवाल #2 – गूगल ड्राइव में किन फाइल फॉर्मेट को सपोर्ट किया जाता है.

जवाब – गूगल ड्राइव में आप वर्ड डॉक्युमेंट्स से लेकर प्रोग्रामिंग फाइल्स को सेव कर सकते है. साथ में क्रोम वेब स्टोर में उपलब्ध सपोर्टेड अन्य थर्ड-पार्टी एप्स को इंस्टॉल करके फाइल फॉर्मेट सीमा को पार सकते है.

गूगल ड्राइव वीवर के जरिए आप मुख्यत: निम्न फाइल फॉर्मेट में अपना डेटा स्टोर कर सकते हैं.

Google Drive Viewer Supported File Format List

  • Google Docs, Slides, Sheets, Forms, Drawings को नेटिव फाइल कहते है.
  • Image Files – .jpeg, .png, .gif, .tiff, .bmp, .webp
  • Video Format – .webm, .mpeg4, .3gpp, .mov, .avi, .mpeg, .mpegps, .wmv, .flv, .ogg
  • Audio Files – .mp3, .m4a, .wav. ogg
  • Text Files – .txt, .doc, .docx, .xls, .ppt, .pptx, .xls, .xlsx, .pdf
  • Graphics – .ai, psd, dfx, svg,
  • Programming – .pages, .eps, .ps, py, .ttf, .xps
  • Archive File Types – .zip, .rar, .tar, .gzip
  • Others – .mts, raw

सवाल #3 – गूगल ड्राइव में अधिकतम कितने साइज की फाइल अथवा डॉक्युमेंट अपलोड किया जा सकता है?

जवाब – गूगल ड्राइव पर आप अधिकतम 5टीबी की फाइल अपलोड कर सकते है.

अगर, उस फाइल को अन्य फाइल फॉर्मेट में कनवर्ट कर दिया गया है तो फाइल विशेष के अनुसार तय फाइल साइज को अपलोड कर सकते है. प्रत्येक फाइल फॉर्मेट की अधिकतम सीम अलग-अलग है.

  • Documents – फाइल साइज की सीमा नहीं है मगल डॉक्युमेंट में मौजूद कुल कैरेक्टर्स की संख्या पर पाबंदी है. इसलिए, आप 10 लाख से ज्यादा कैरेक्टर्स का डॉक्युमेंट गूगल ड्राइव में अपलोड नहीं कर सकते है. यदि उसमें ग्राफिक्स इनसर्ट है तो उनका साइज 50 एमबी से ज्यादा नहीं होना चाहिए.
  • Spreadsheets – डॉक्युमेंट्स की तरह यहाँ भी फाइल साइज के बजाए शीट्स में मौजूद कुल सेल्स की संख्या का प्रावधान है. जो करीब 20 लाख है. यानि आप 20 लाख सेल से ज्यादा बड़ी स्प्रेडशीट अपलोड नहीं कर सकते है.
  • Presentations – प्रेजेंटेशन केवल 100 एमबी तक अपलोड होंगी. यदि इससे ज्यादा बड़ी स्लाइड्स है तो आपको उन्हे .gslides फाइल फॉर्मेट में कनवर्ट करना पड़ेगा.

सवाल #4 – गूगल ड्राइव के साथ 15 जीबी क्लाउड स्टोरेज मुफ्त मिलती है. यदि यह लिमित पूरी हो जाए तो क्या करें?

जवाब – लिमिट पूरी हो जाए सबसे पहले अपना ऑटो बैकअप बदले ताकि आपका डेटा सुरक्षित किया जा सके. इसके बाद फालतू फाइल्स, फोटूओं तथा डॉक्युमेंट्स की छँटनी शुरु करें. और कुछ खालि स्पेस बनाए.

यदि छँटनी करने के बाद भी पर्याप्त स्पेस नहीं है तो आप गूगल ड्राइव की स्टोरेज क्षमता बढ़्वाएं.

सवाल #5 – मैं गूगल ड्राइव की स्टोरेज क्षमता कैसे बढ़ा सकता हूँ?

जवाब – गूगल ड्राइव स्टोरेज सेवा गूगल की एक स्टोरेज सर्विस गूगल वन के जरिए उपलब्ध करवाई जाती है. जो सब्सक्रिप्शन आधारित सेवा है.

आप अपनी जरूरत और बजट के अनुसार क्लाउड स्टोरेज प्लान चुन सकते है.

सवाल #6 – गूगल ड्राइव की स्टोरेज प्लान्स के बारे में बताइए.

जवाब – गूगल द्वारा हर यूजर की जरूरत का ख्याल रखा गया है. इसलिए प्रत्येक प्लान के साथ फैमिलि मेंबर जोड़ने की सहुलियत भी मिलती है. यानि आप एक प्लान में अन्य सदस्यों को भी एक्सेस दें सकते है.

Google One Storage Plan and Price List

Google One Storage Plan and Price

ये सभी प्लान मासिक तथा वार्षिक भुगतान पर उपलब्ध है. इसलिए, वार्षिक प्लान चुनने में ही समझदारी है.

सवाल #7 – क्या गूगल ड्राइव का उपयोग करने के लिए किसी प्रकार का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है?

जवाब – जी हाँ. आप बिना रजिस्ट्रेशन गूगल ड्राइव का उपयोग नहीं कर सकते है. लेकिन, यह काम बहुत ही आसान है. आप अपने गूगल अकाउंट के जरिए ही इसे इस्तेमाल कर सकते है. आपको अलग से पंजीकरण कराने की जरूरत नहीं है.

सवाल #8 – क्या गूगल ड्राइव पर फाइल स्टोर करना सुरक्षित है?

जवाब – आपके लोकल कम्प्युटर में स्टोर डेटा से ज्यादा सुरक्षित गूगल ड्राइव है. इसलिए, आप बेफिक्र होकर इस फाइल होस्टिंग सर्विस का उपयोग कर सकते है.

आपने क्या सीखा?

इस लेख में मैंने आपको गूगल ड्राइव के बारे में पूरी जानकारी दी है. आपने जाना कि गूगल ड्राइव क्या होती है, इसका उपयोग कैसे किया जाता है.

साथ ही गूगल ड्राइव के फीचर्स तथा फायदें भी जाने हैं. और अपनी शंकाओं को सामान्य सवाल-जवाबों में सुलझाया है.

मुझे उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा और आप क्लाउड स्टोरेज में अपने महत्वपूर्ण डॉक्युमेंट्स तथा डेटा को स्टोर करना तथा उसे सेव रखना सीख जाएंगे.

आपसे एक निवेदन भी है इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें ताकि वे भी मुफ्त क्लाउड स्टोरेज का फायद लें पाएं.

#BeDigital

1 Comment

Leave a Comment