Articles

Tablet क्या होता हैं इसकी पूरी जानकारी हिंदी में

तकनीक के विकास नें कम्प्युटर को एक कमरे से निकाल कर इंसान के हाथ में ला दिया हैं. अब हम अपने हाथ में कम्प्यूटर समाए रहते हैं. जिसे टैब कहते हैं.

इस लेख में हम आपको टैबलेट कम्प्युटर के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं. अध्ययन की सुविधा के लिए हमने इस लेख को निम्न भागों में बांटा हैं.


टैबलेट क्या हैं – What is Tablet in Hindi?

ऊपर जाएं ↑

Tablet एक मोबाईल कम्प्युटिंग डिवाईस हैं, जो स्मार्टफोन से बडा तथा लैपटॉप से छोटा होता हैं. इसे टैबलेट कम्प्युटर, टैब, टैबलेट पीसी के नाम से भी जाना जाता है. इसका आकार एक किताब या छोटी किताब के बराबर होता हैं.

टैबलेट एक कम्प्युटर और स्मार्टफोन का संकर डिवाईस (Hybrid) हैं. लेकिन, यह दोनों में से किसी का भी काम पूरा नही करता हैं.

इनमे आमतौर पर 7 इंच की टचस्क्रीन डिस्प्ले होती हैं. जो इनपुट एवं आउटपुट का काम करती हैं. क्योंकि टैबलेट में भौतिक की-बोर्ड, माउस नही होता हैं. इनका सारा काम टचस्क्रीन या फिर Stylus (एक प्रकार का पेन) के द्वारा संपन्न किया जाता हैं. लेकिन, आप USB Port के माध्यम से अन्य डिवाईस कनेक्ट कर सकते हैं.

टैबलेट पीसी Windows OS, Android तथा iOS ऑपरेटिंग सिस्टम पर कार्य करता हैं. यह लैपटॉप की तरह पोर्टेबल कम्प्युटर होता हैं. जिसे कहीं भी एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाया जा सकता हैं. लैपटॉप की तुलना में टैबलेट पीसी की छोटी स्क्रीन साईज के कारण इनका इस्तेमाल घर, ऑफिस में मार्केटिंग, विद्यार्थी पढाई जैसे कार्यों के लिए करते हैं.

एक स्मार्टफोन तथा टैबलेट में मुख्य फर्क स्क्रीन साईज और कॉलिंग फीचर का होता हैं. क्योंकि सेलुलर नेटवर्क फीचर नहीं दिया जाता हैं.


टैबलेट का इतिहास – History of Tablet in Hindi?

ऊपर जाएं ↑

टैबलेट की कहानी भी लैपटॉप के साथ आगे बढ रही थी. Alan Kay ने Xerox में सन 1971 में टैबलेट का पहली रुपरेखा बनाई. जिसके बाद कई सारे डिवाईस बनाई गई जिनमे PDAs भी शामिल थी. इन्हे ही Tablet का पूर्वज कहा गया हैं.

दुनिया का पहला कामयाब टैबलेट जिसे सारि दुनिया जानती हैं Apple iPad सन 2010 में बाजार में उतारा गया. और आज लगभग सभी टैबलेट इसी की तरह दिखाई देते हैं.

मगर माईक्रोसॉफ्ट भी टैबलेट कम्प्युटिंग में काम कर रहा था. वर्ष 2007 में इसने टैबलेट पीसी के बारे में बताना शुरु किया. और टैबलेट के लिए Windows XP OS का टैबलेट वर्जन भी बाजार में उतारा गया. जिसे आप Windows XP Tablet Edition के नाम से जानते हैं.

वर्तमान समय में सैमसंग, गूगल, एप्पल आदि कंपनिया टैबलेट पीसी बना रही है. इनके अलावा बहुत लोकल कंपनिया भी इस काम को कर रही है. और अधिकतर टैबलेट Android OS पर काम कर रहे हैं. केवल iPads को छोडकर.


टैबलेट के भाग – Parts of Tablet in Hindi?

ऊपर जाएं ↑

टैबलेट की बनावट एक स्मार्टफोन की जैसी होती हैं. और अधिकतर वहीं सब उपकरण इसमे लगे होते हैं जिनसे मिलकर एक स्मार्टफोन बनता हैं. नीचे हम साधारण टैबलेट में काम आने वाली तकनीको के बारे में बता रहे हैं.

  1. ऑपरेटिंग सिस्टम – अधिकतर टैबलेट मोबाईल फोन में इस्तेमाल होने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम  पर ही अपना कार्य करते हैं. जिनमें Android, iOS सबसे ज्यादा लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम हैं. मगर कुछ कंपनिया Windows तथा Hybrid OS का भी इस्तेमाल करती हैं.
  2. Buttons – टैबलेट में ज्यादा भौतिक बटन नहीं होते हैं. मगर Power Button, Volume Button, Back Button ये तीन बटन तो लगभग सभी टैबलेट पीसी में पाएं जाते हैं. इनके अलावा बटनों की संख्या मैन्युफैक्चरर पर निर्भर करती हैं. किसी-किसी टैबलेट में तो केवल एक ही बटन दिया जाता हैं.
  3. I/O Devices – टैबलेट के साथ कोई अतिरिक्त इनपुट या आउटपुट उपकरण नही आता हैं. क्योंकि सारा काम टचस्क्रीन से हो जाता हैं. मगर कुछ कंपनिया अपने टैबलेट के साथ एक टचपेन (Stylus) जरुर उपलब्ध करवाती हैं.
  4. हार्डवेयरहार्डवेयर टैबलेट का वह हिस्सा होता हैं जिसे आप हाथ से छू कर देख सकते हैं. जैसे बैटरी, बाहरी बॉडी आदि.
  5. सॉफ्टवेयरसॉफ्टवेयर वह भाग होते हैं जिन्हे आप आंखो से देख नही सकते हैं. यह हार्डवेयर के ऊपर काम करते हैं. इन्हे एप अथवा एपलिकेशन भी कहते हैं.

टैबलेट के प्रकार – Types of Tablet in Hindi?

ऊपर जाएं ↑

टैबलेट को हम उनके आकार, उपयोग, ऑपरेटिंग सिस्टम, तकनीक आदि के आधार पर कई वर्गों में बांट सकते हैं.

  1. Slate Tablet
  2. Mini Tablet
  3. Phablet
  4. 2-in-1 अथवा Hybrid
  5. Gaming Tablet
  6. Booklet
  7. Business Tablet

टैबलेट का उपयोग – Uses of Tablet in Hindi?

ऊपर जाएं ↑

  1. टैबलेट स्क्रीन साईज बडा होता हैं. इसलिए इसका उपयोग किताब पढने, अखबार पढने, वेब ब्राउजिंग करने के लिए ज्यादा किया जाता हैं. आप स्मार्टफोन की तुलना में ज्यादा बडे फॉन्ट साईज में शब्दों को पढ सकते हैं. जिससे आपकी आंखों को भी सीधा फायदा होता हैं.
  2. टैबलेट की पोर्टेबिलिटी सुविधा के कारण इसका इस्तेमाल आज अनेक क्षेत्रों जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य, मार्केटिंग में किया जाता हैं.
  3. रिपोर्ट बनाने, डाटा एकत्रित करने, सर्वे कार्य आदि के लिए यह सबसे उपयुक्त डिवाईस हैं.
  4. चुंकि यह एक छोटी डायरी के आकार का होता हैं. इसलिए व्यापार में प्रोजेक्ट प्लानिंग, डे-प्लानर, ऑनलाईन लर्निंग जैसे कार्यों में किया जा सकता हैं.
  5. आप इसे अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हैं.

टैबलेट के फायदें – Advantages of Tablet in Hindi

ऊपर जाएं ↑

  1. टैबलेट के पतले डिजाईन ततह कम वजन के कारण इन्हे कहीं भी ले जाया जा सकता हैं. तथा लैपटॉप की तरह टैबलेत पीसी को थामने (Holding) के लिए हमें अलग से किसी बैग की जरूरत नही पडती.
  2. टैबलेट के बेहतरीन डिजाईन के कारण इन्हे आसानी से किसी मेज या हाथ में पकडे हुए इस्तेमाल कर सकते हैं.
  3. लिखने के लिए अलग की-बोर्ड तथा आईटम सेलेक्ट करने के लिए माउस की जरूरत नहीं. यह सारा काम हम टचस्क्रीन से कर सकते हैं.
  4. कम्प्युटर तथा लैपटॉप से सस्ता होता हैं.
  5. रिचार्जेबल बैटरी से पावर लेता हैं. इसलिए अपने मन पसंद स्थान पर ले जाकर भी उपयोग कर सकते हैं. और चार्जर के द्वारा दुबारा चार्ज भी कर सकते हैं.
  6. काम दाम तथा छोटे आकार में कम्प्युटिंग फीचर का उपयोग किया जा सकता हैं.
  7. इसे चलाने के लिए अलग प्रशिक्षण की जरूरत नहीं हैं. इसमें GUI – Graphical User Interface तकनीक का उपयोग होता हैं. इसलिए यूजर थोडे समय में ही इसे चलाना सीख जाता हैं.

टैबलेट के नुकसान – Disadvantages of Tablet PC in Hindi?

ऊपर जाएं ↑

  1. किसी भी एक डिवाईस का पूरे फीचर उपलब्ध नहीं हैं. ना तो आपको स्मार्टफोन के पूरे फीचर मिलते है. और ना ही कम्प्युटर के फुल फीचर दिए जाते हैं.
  2. टैबालेट का यूजर इंटरफेस सरल होता हैं. मगर इसके फंक्शन का सही उपयोग करने के लिए यूजर को तकनीक की जानकारी होना जरूरी हैं.
  3. लिखने की आजादी नहीं. आप वर्चुअल कीबोर्ड की मदद से खुलकर टाईपिंग नही कर सकते हैं. और गलती होने की संभावना बहुत ज्यादा होती हैं.
  4. मनोरंजन फीचर भी बेसिक फीचर से बने होते हैं. इसलिए आपको विडियों, गेम, गाना, मूवि देखने में मजा नही आता हैं.
  5. कैमरा भी दिखाने भर के लिए ही होता हैं. आप सेल्फी या विडियों शूट करने के लिए इस्तेमाल नही कर सकते हैं.
  6. इनकी कीमत फीचर के हिसाब से ज्यादा होती हैं.
  7. टचस्क्रीन टूटने का खतरा ज्यादा होता हैं. क्योंकि इसे आप स्मार्टफोन की तरह जेब में भी नही रख सकते हैं. और लैपटॉप की तरह अलग बैग में भी नही टांग सकते हैं.

आपने क्या सीखा?

ऊपर जाएं ↑

इस लेख में हमने आपको टैबलेट के बारे में पूरी जानकारी दी हैं. आपने जाना कि टैबलेट क्या होता हैं? टैबलेट का इतिहास, प्रकार, फायदे-नुकसान आदि. हमे उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा.

#BeDigital

1 Comment

Leave a Comment