Articles How To

विलॉगिंग क्या है कैसे शुरु करें और विलॉगिंग से पैसे कमाने की हिंदी में जानकारी

ब्लॉग़िंग, बॉस फ्री लाइफ जीने का माध्यम बन चुका है, इसलिए अधिक से अधिक लोग इस प्रोफेशन में करियर बनाने की तलाश में गूगल पर भटक रहे है.

पर ठेहरों, ब्लॉगिंग अभी शुरु ही हुआ था कि उसका एक नया वर्जन और आ गया है जिसे हम विलॉगिंग, अंग्रेजी में Vlogging, कहते है.

अब जो लोग ब्लॉगिंग के बारे में जानना चाहते थे उनके सामने एक और विकल्प आ टपका है. जिससे उन्हे चुनाव करने में दिक्कत आ रही है.

इसलिए, इस लेख में हम विलॉगिंग के बारे में जानकारी दे रहें हैं. ताकि डिजिटल करियर की तलाश में भटक रहे युवाओं को ब्लॉगिंग का वास्तविक अर्थ समझ आ जाए. और वे ब्लॉगिंग और विलॉगिंग में अंतर कर सके.

अध्ययन की सुविधा के लिए हमने इस लेख को निम्न भागों में बांट दिया है.

विलॉगिंग क्या है – What is विलॉगिंग in Hindi?

Vlogging, ब्लॉगिंग करने का एक स्वतंत्र माध्यम हैं जिसमें ब्लॉगर अपनी बात, अनुभव, ज्ञान, कौशल, हुनर आदि को वीडियों के जरिए दर्शकों के साथ शेयर करता है. आज इसे यूट्युबिंग भी कहते है, और वीडियो बनाने वाले को यूट्यूवर्स कहते हैं. विलॉगिंग की शूरुआत 2005 से मानी गई है.

विलॉगिंग शब्द अंग्रेजी भाषा के दो शब्दों ‘Video’ तथा ‘Log’ से मिलकर बना है. इस प्रकार पूरा शब्द बना “Videolog” जिसका अर्थ होता है “वीडियों की क्रमानुसार एंट्री.” यहीं परिभाषा ब्लॉगिंग पर लागु होती है.  इस कार्य को करना ही विलॉगिंग कहलाता है.

इसे आप इस तरह भी समझ सकते हैं. जिस प्रकार हम किसी वेबसाइट/ब्लॉग़ पर आर्टिकल लिखकर टेक्स्ट फॉर्मेट (सीमित नहीं) में जानकारियां शेयर करते हैं. उसी तरह विलॉगिंग में हम अपने विचारों को वीडियो के माध्यम से लोगों तक पहुंचाते हैं.

विलॉगिंग में आप अपनी इच्छा के मुताबिक किसी भी टॉपिक पर अपना वीलॉग (वीडियो) बना सकते हैं. किसी सामाजिक मुद्दे पर अपनी राय दे सकते हैं या किसी प्रोडक्ट के फायदे एवं कमियां बता कर उसका Review कर सकते हैं, साथ में लोगों के साथ अपनी दिनचर्या भी शेयर कर सकते हैं.

जिस तरह तेजी से इंटरनेट लोगों तक पहुंच रहा है लोग पढ़ने की बजाए वीडियो देखकर चीजों को समझना पसंद कर रहे हैं. एक मजेदार आंकड़ा यह है कि वर्ष 2016 में दुनिया में 700 मिलियन वीडियो दर्शक थे और यह आंकड़ा साल 2019 नवम्बर पर 2.6 बिलियन हो गया.

आप खुद इस गणित से अंदाजा लगा सकते है वीडियो देखने वालों की डिमांड किस तेजी से बढ़ रही है.

आप भी एक विलॉगर बनना चाहते हैं तो आपके पास कुछ विशेष खूबी होने की आवश्यकता नहीं है. बस आप किसी एक टॉपिक और अच्छी Basic Video Editing स्किल्स के साथ बतौर विलॉग़र अपनी यात्रा स्टार्ट कर सकते हैं.

याद रखें आप विलॉगिंग में जिस भी Valuable  Topic का चुनाव करें आपके द्वारा उससे संबंधित जानकारियों को, विचारों को लोगों तक पहुंचाने का तरीका आकर्षक होना चाहिए जिसमें आपकी ऑडियंस को इंटरेस्ट हो तथा अधिक से अधिक दर्शक आपको देखना पसंद करें.

क्योंकि जितना आप लोगों को Engage कर पाएंगे उतनी अधिक संभावना है लोग आप से जुड़ेंगे और आपके लिए विलॉगिंग के जरिए प्रसिद्धि हासिल करना आसान रहेगा.

विलॉगिंग के फायदें – Advantages of Vlogging in Hindi?

#1 नाम और पैसा

यदि आपके पास कोई टैलेंट, क्रिएटिविटी है. जिसे आप दुनिया के सामने लाना चाहते तो डिजिटल युग में विलॉगिंग आपके लिए एक शानदार जरिया साबित हो सकता है.

आज विलॉगिंग में सफल हुए सैकड़ों लोगों की ऐसी ही कहानी है, जिन्होंने एक छोटे से कस्बे से शुरुआत की आज लाखों लोग व्यक्ति को जानते हैं. आप फेमस कैसे हो सकते हैं यह जानने के लिए आप अभी उदहारण यूट्यूब पर देख सकते हैं.

#2 लोगों तक पहुँच

किसी ने क्या खूब कहा है जिसके पास जनता है उसी की लोग सुनते हैं. इसलिए जिस तरह किसी लोकप्रिय टीवी चैनल पर कहीं गई बात एक बारी में करोड़ों लोगों तक पहुंच जाती है.

ठीक उसी प्रकार विलॉगिंग के जरिए आपके पास भी लाखों लोगों तक अपने विचारों, जानकारियों को पहुंचाने आने का मौका होता है.

और यदि आपको भी बड़ी संख्या में दर्शक देखना पसंद करते हैं तो आप यूट्यूब के अलावा अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम पेज पर भी अपने फॉलोवर्स की संख्या बढ़ा सकते हैं.

#3 ऑडियंस के साथ कनेक्टिविटी

विलॉगिंग आपको दर्शकों के साथ डायरेक्ट Engage करने की सुविधा देती है. जब आप किसी भी Niche पर वीडियो बनाना स्टार्ट करते हैं तो लोग आपकी वीडियोज देखते हैं और वे जानते हैं कि आप किस चीज में बेहतर है.

इसलिए आपके चैनल को सब्सक्राइब करते हैं और अपने सवाल, विचारों को कमेंट में पूछते हैं. इस तरीके से आप अपनी ऑडियंस से कनेक्टेड रह पाते हैं.

यदि आप एक ब्लॉगर हैं तो भी आप के लिए विलॉगिंग करना बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है. एक विलॉगर के तौर पर आप अपने ब्लॉग में किसी Niche पर आर्टिकल लिखते हैं. तो क्यों ना वही जानकारी वीडियो के माध्यम से लोगों तक पहुंचाई जाए.

इससे न सिर्फ आपके उस वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म पर सब्सक्राइबर्स बढ़ेंगे साथ ही यह आपकी वेबसाइट के लिए ट्रैफिक का अच्छा सोर्स बन सकता है. और गूगल क्वालिटी कोंटेट को पसंद करता है.

#4 पैसे कमाने का तरीका

पैसा कमाना व्यक्ति का अंतिम लक्ष्य नहीं होता. लेकिन फिर भी हम जिस काम को पेशेवर तरीके से कर रहे हैं उससे हमें लाभ हो हर कोई चाहता है.

यदि आप विलॉगिंग करते हुए इसमें सफल हो जाते हैं अर्थात आप के साथ बड़ी संख्या में एक्टिव ऑडियंस है. तो आपके पास विलॉगिंग के जरिए पैसे कमाने गोल्डन चांस होता हैं.

आप विलॉगिंग में एफिलिएट मार्केटिंग, स्पॉन्सरशिप, प्रोडक्ट सेलिंग इत्यादि कई तरीकों से अच्छा कमा सकते हैं. और डिजिटल करियर बनाकर बॉस फ्री लाइफ जीना आरम्भ कर सकते है. विलॉगिंग से पैसे कैसे कमाते है? इस बारे में नीचे विस्तार से चर्चा की गई है.

#5 ज्ञान बढ़ाने का अवसर

जब आप किसी टॉपिक पर वीडियो रिकॉर्ड करना शुरु करते है तो शुरुआती हॉबिज पर ही होते है. क्योंकि, उन्हे इसकी जानकारी होती है.

जैसे-जैसे ग्रोथ होती है वैसे-वैसे ही ज्यादा कोंटेट की मांग बढ़ने लगती है. जिसकी पूर्ती के लिए नए-नए टॉपिक्स ढूँढने की जरूरत पड़ती है. इसलिए, वीडियो क्रिएटर्स को अपने विषय की गहराई में जाना पड़ता है ताकि वीडियो रिकॉर्ड करने के लिए टॉपिक्स ढूँढ़कर लाए जा सके.

जब गहराई में जाते है तो हॉबी में सुधार आता है, उससे संबंधित ज्ञान में बढ़ोतरी होती है. और हम हॉबी के मास्टर बनने लगते है.

अब आपने विलॉगिंग को भली-भांति समझ लिया है. आइए, जानते है विलॉगिंग करते कैसे है?

Vlogging की शुरुआत कैसे करें – How to Start Vlogging in Hindi?

अब सवाल आता है विलॉगिंग कैसे करें? अर्थात कहां से स्टार्ट की जाए विलॉगिंग?

तो इस सवाल का जवाब निर्भर करता है आप किस उद्देश्य के लिए वीडियो रिकॉर्ड करना चाहते है.

आज दुनियाभर में वीडियो शेयर करने, होस्ट करने तथा रिकॉर्ड करने के लिए कई सारे प्लेटफार्म मौजूद है, जिन्हे क्रिएटर्स की अलग-अलग जरूरतों को पूरा करने के लिए विकसित किए गए है. कुछ लोकप्रिय विलॉगिंग प्लैटफॉर्म्स के नाम इस प्रकार है.

5 Best Vlogging Platforms

  • YouTube
  • Vimeo
  • Facebook Videos
  • Instagram
  • TikTok

आप इनमे से किसी भी वीडियो शेयरिंग प्लैटफॉर्म का उपयोग कर सकते हैं. इनमें यूट्यूब का नाम सबसे टॉप पर आता है.

हालांकि ऐसा नहीं है आप विलॉगिंग सिर्फ यूट्यूब चैनल के जरिए ही कर सकते हैं. बल्कि आप अपने वीडियो कॉन्टेंट को फेसबुक,  इंस्टाग्राम इत्यादि अन्य सोशल प्लेटफॉर्म पर भी शेयर कर सकते हैं.

लेकिन, यूट्यूब एक विश्व प्रसिद्ध वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म है. और अब तक सैंकड़ों क्रिएटर्स ने YouTube पर विलॉगिंग वीडियो के जरिए प्रसिद्धि हासिल की है. इसलिए, यूट्यूब विलॉगर्स की पहली पसंद है.

बेहतर यही है आप भी यूट्यूब प्लेटफार्म पर  Vlogging Journey की शुरुआत करें.

विलॉगिंग के लिए क्या-क्या चाहिए – Things Needed to Start Vlogging or YouTube Channel in Hindi?

वीडियो का नाम सुनते ही पहला ख्याल आता है मेरे पास कैमरा तो है ही नहीं फिर मैं कैसे विलॉगिंग कर सकता हूँ.

कैमरा के बाद साउंड रिकॉर्डर, लाइट्स, वीडियो एडिटर सॉफ़्टवेयर, वीडियो रिकॉर्ड करने के लिए जगह की जरूरत पड़ेगी.

इस तरह के सवाल आने लगते है. हम मानते है ये सवाल जायज है. लेकिन, चीजों की कमी का बहाना अब नही चलने वाला है. यदि आपके पास वीडियो रिकॉर्ड करने की इच्छा शक्ति है तो आप वीडियो रिकोर्ड करके विलॉगिंग कर सकते है.

एक विलॉग़ बनाने के लिए (यानि यूट्यूब चैनल शुरू करने के लिए) आपके पास कुछ आवश्यक चीजें होनी चाहिए. जिनका बंदोबश्त आप विलॉग़ शुरु करने से पहले ही कर लें.

Basic Equipments to Start YouTube Channel in Hindi

  • Camera or Smartphone
  • Voice Recorder
  • Mic
  • Tripod
  • Lights
  • Video Editor Program
  • Internet Connectivity
  • Digital Literacy Skills

Camera or Smartphone

कैमरा कैसा होना चाहिए? क्या नॉर्मल कैमरे से काम चल सकता है? या फिर महंगा कैमरा लेना पड़ेगा?

अक्सर, इस दुविधा के कारण बहुत सारे लोग विलॉगिंग शुरु ही नहीं कर पाते हैं. लेकिन, विलॉगिंग करने के लिए आपको कैमरे की जरूरत नहीं है.

जी हां. आपने सही सुना.

आप अपने स्मार्टफोन से भी वीडियो रिकॉर्ड कर सकते है. ऐसे बहुत सारे यूट्यूबर्स है जो केवल मोबाइल से ही वीडियो रिकॉर्ड करते है और अपलोड कर देते है.

यदि आपके पास एक बजट स्मार्टफोन है तो आपका काम खूब बढ़िया चल जाएगा. और आपके पास अतिरिक्त बजट है तब आप DSLR Camera की तरफ जा सकते है.

ऑनलाइन स्मार्टफोन चैक करें.

Voice Recorder

वीडियो से भी ज्यादा आपकी आवाज वीडियो की क्वालिटी का निर्धारण करती है. इसलिए, एक अच्छा-सा साउंड रिकॉर्डर आप खरिद सकते है तो जरूर खरिदें.

साउंड रिकॉर्डर की जानकारी आप ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल्स से ले सकते हैं.

Mic

यदि आप स्मार्टफोन से वीडियो रिकॉर्ड करना चाहते है तो आपको साउंड पहुँचाने के लिए अतिरिक्त माइक की जरूरत पड़ने वाली है.

क्योंकि दूरी के कारण आपकी आवाज सही और पूरी नहीं पहुँच पाती है. इसलिए, एक कॉलर माइक आपके पास जरूर होना चाहिए. यह माइक भी आपको ऑनलाइन मिल जाते हैं. जिनकी शुरुआत ₹100 से हो जाती है.

आप अपने बजट के अनुसार माइक ढूँढ़ सकते है. यूट्यूबर्स की माने तो BOYA Mics इस काम के लिए बेहतरीन साबित हुए है. इन माइक्स को आप अमेजन से खरिद सकते हैं.

Tripod

आपके कैमरा या स्मार्टफोन को ड़ांटने के लिए एक औजार चाहिए जिसका नाम है ट्राइपॉड. यह सिर्फ इसी काम के लिए बनाया गया है. इसलिए, आप एक सस्ता और टिकाउ ट्राइपॉड जरुर खरिद लें.

ऑनलाइन इनकी शुरुआती कीमत ₹200 से शुरु हो जाती है. आप अपने बजट के अनुसार एक ट्राइपॉड खरिद लें.

Lights

यह उपकरण वैकल्पिक है और आपके बजट पर निर्भर करता है. यदि आपके पास बजट है तो आप लाइट्स खरिद सकते हैं. नहीं तो बिना लाइट्स भी वीडियो रिकॉर्ड करने में कोई दिक्कत नहीं हैं.

ये लाइट्स भी अलग-अलग रेंज में उपलब्ध है. आप ऑनलाइन जाकर इनके बारे में अधिक जानकारी कर सकते हैं.

Video Editing Program

यह अनिवार्य है और आपके पास एक वीडियो एडिटिंग टूल जरूर होना चाहिए. जो आपके वीडियो में जान डालेंगा. इसलिए, आप इस टूल के लिए अपनी जेब ठंड़ी करने से परहेज ना करें.

इंटरनेट पर कई सारे फ्री और क्रेक्ड टूल उपलब्ध है. लेकिन, हम ऐसे प्रोग्रामों की सलाह नहीं देते हैं. आप एक बिजनेस की शुरुआत करने जा रहे है. इसलिए, थोड़ा तो निवेश करना ही पड़ेगा.

यह टूल नींव की तरह काम करता है. यदि आपकी नींव कमजोर रहेगी तो मंजिल डहने का डर हमेशा बना रहेगा. अब पसंद आपकी आप डर के साये में रहना चाहेंगे या फिर निडर?

हम आपको सलाह देंगे आप स्मार्टफोन के लिए उपलब्ध किसी वीडियो एडिटर टूल को खरिद सकते है जो काफि सस्ते मिलते है. मगर, यह निवेश तभी करें जब आप छोटी स्क्रीन पर काम करने में सहज जों.

आपके पास ज्यादा बजट है तो आप डेस्कटॉप सॉफ्टवेयर ही खरिदें. जो आपको मोबाइल वर्जन से थोड़े ही महेंगे पड़ेगे.

यूट्यूबर्स की सलाह और हमने जानकारी करके पता लगाया है कि Wondershare Filmora Video Editor प्रोग्राम इस काम के लिए खूब पसंद किया जा रहा है.

Use Filmora video editor to express your creativity and amaze with beautiful results.

Internet Connectivity

आपने वीडियो तो रिकॉर्ड कर लिए है. उन्हे इंटरनेट पर पहुँचाने के लिए इंटरनेट की जरूरत पड़ेगी. इसलिए, आपके पास तेज स्पीड वाला इंटरनेट कनेक्शन होना बेहद जरूरी है. इसके बिना आपका काम रुक जाएगा.

यह ज्यादा गंभीर समस्या नही रह गई है. जिस इंटरनेट का उपयोग आप स्मार्टफोन में कर रहे है. वही आपके लिए उपयुक्त है. इसलिए, मोबाइल फोन में हमेशा इंटरनेट डेटा प्लान एक्टिव रखें. ताकि वीडियो रिकॉर्ड करते ही उसे दशकों के लिए अपलोड किया जा सके.

वैसे भी, जियो के आने के बाद 4जी डेटा दुनिया में सबसे सस्ता भारत में ही मिलता है. तो यहाँ आपको ज्यादा खर्चा नहीं करना पड़ेगा.

Digital Literacy Skill

आपने यूट्यूब स्टुडियो (विलॉगिंग स्टुडियो) सेटप कर लिया हैं. लेकिन, आपको कम्प्यूटर चलाना ही नही आता तो ये सब चीजे बेकार है.

इसलिए, विलॉगिंग में सफल होने के लिए वीडियो मेकिंग स्किल के साथ-साथ आपको कम्प्यूटर की बेसिक नॉलेज, इंटरनेट से जानकारी ढूँढने एवं डाउनलोड करने और वीडियो एडिटिंग की शुरुआती नॉलेज होना अनिवार्य है.

इस काम के लिए आप हमारे Computer Tutorials को पढ़ सकते है. जिनके द्वारा आप घर बैठे-बैठे आसान भाषा में कम्प्यूटर फंडामेंट्ल्स सीख जाते है.

Computer Fundamentals by GP Gautam

खुद का विलॉग कैसे बनाएं – How to Make a Vlog in Hindi?

आइए, अब बात करते है आप खुद का विलॉग़ कैसे बना सकते हैं? आपके क्या-क्या विकल्प मौजूद है?

विलॉग़ स्टार्ट करने के लिए आपको निम्न चीजे ध्यान में रखनी है. इसके बाद ही विलॉग बनाने की शुरुआत करें.

#1 अपना विलॉग टॉपिक चुन लें

सबसे पहले आप जिस टॉपिक पर विलॉग बनाना चाहते है उसका निर्धारण कर लिजिए. यह काम सबसे पहले होना चाहिए मतलब होना ही चाहिए.

इसलिए, यहाँ कोई कौताही ना बरते.

विलॉगिंग टॉपिक्स कैसे चुने?

आप जिस चीज को करने में बेहतर है, आपको जानकारी है, जिस काम को करने में मजा आता है, जिस काम को आप खालि समय में करते है, वहीं काम आपका विलॉग टॉपिक बन सकता है.

मगर, हमारे कहने का मतलब यह बिल्कुल नहीं है आप सिर्फ अपनी हॉबिज पर ही विलॉग शुरु करें. आप बहुत सारे अन्य विषयों पर विलॉग़िंग कर सकते हैं. कुछ टॉपिक्स के नाम नीचे दिए गए हैं.

#2 वीडियो टॉपिक निर्धारित कर लें

वीडियो किन-किन टॉपिक्स पर बनाने है उनका निर्धारण कर लिजिए. मतलब, आप यूट्यूब के जरिए लोगों को वेब डिजाइनिंग सिखाना चाहते है तो. शुरुआती वीडियो वेब डिजाइनिंग के बेसिक से करें फिर उसके बाद क्रमानुसार धीरे-धीरे अलग-अलग टॉपिक्स को कवर करते हुए आगे बढ़े.

अगर, आप यह चीज पहले ही प्लान कर लेंगे तो आपका काम थोड़ा आसान हो जाएगा.

#3 वीडियो प्लैटफॉर्म चुने

हमने ऊपर बताया कि विलॉगिंग के लिए बहुत सारे वीडियो शेयरिंग प्लैटफॉर्म मौजूद है. बस आप अपनी जरूरत, दर्शको तक पहुँच और कमाई की उपलब्धता को ध्यान में रखते हुए प्लैटॅफॉर्म का चुनाव कर लिजिए.

यहाँ हम आपको सलाह देंगे कि आप विलॉगिंग करने के लिए YouTube का चुनाव करें. यह प्लैटफॉर्म लोकप्रिय होने के साथ-साथ शुरुआत करने के लिए सबसे बढ़िया है.

यूट्यूब पर जाकर आप गूगल अकाउंट के जरिए लॉग-इन कर लिजिए और यूट्यूब चैनल बनाकर विलॉगिंग शुर कर दीजिए.

#4 वीडियो रिकॉर्ड करें

अब आपने विलॉगिंग के लिए प्लैटफॉर्म का चुनाव कर लिया है. तो बारी आ जाती है वीडियो रिकॉर्ड करने की.

Light. Camera. Action!

इन शब्दों को साकार करने का वक्त आ गया है. अपनी लाइट्स ऑन कीजिए, कैमरा को ट्राइपॉड पर लगाकर शूटिंग शुरु कर दीजिए.

शूटिंग करते समय वीडियो शूट करें. अच्छा रिकॉर्ड हो रहा है? ये सवाल मत पूछीए. कोई गलती होगी तो उसे एडिटिंग में हटा देंगे. सारा ध्यान कोंटेट को रिकॉर्ड करने में लगाइए.

#5 वीडियो एडिट करें

वीडियो शूट करने के बाद बारी आती है उसे दर्शकों के लिए तैयार करने की. तो इस काम में आपकी मदद करता है आपका वीडियो एडिटर प्रोग्राम.

आपके द्वारा जो गलतियां हुए, आपने नाक खुजाई, छींक आई, अ… आ… है… मतलब… जो कुछ आया सबका सफाया कर दीजिए. लगना चाहिए आपने वीडियो बिल्कुल पेशेवर तरीके से रिकॉर्ड किया है.

#6 अपलोड वीडियो

वीडियो तैयार करने के बाद बारी है उसे अपलोड करने की. तो अपने विलॉगिंग प्लैटफॉर्म पर बनाए अकाउंट में लॉग-इन कीजिए और वीडियो अपलोड कर दीजिए.

अपलोड करते समय मांगी गई आवश्यक जानकारी वीडियो के बारे में जरूर भरें ताकि वीडियो को दर्शक ढूँ‌ढ़ सके.

#7 मार्केटिंग करें

यह विलॉगिंग का अंतिम काम है मगर जरूरी है. इसे नजरअंदाज करने की भूल ना करें. सिर्फ वीडियो बनाने और उसे अपलोड करने भर से दर्शक नहीं आने वाले है. उन्हे लाना पड़ेगा.

इसलिए, वीडियो बनाने के साथ-साथ उनकी मार्केटिंग भी करते चले ताकि ट्रैफिक मिलता रहे. यदि आप ऑनलाइन सफल होना चाहते है तो ट्रैफिक पर ध्यान लगाएं.

विलॉगिंग के लिए बेस्ट टॉपिक्स 2020 – Best Niche to Start Vlog in 2020

  1. Personal Vlogs
  2. Funny Vlogs
  3. Informational Vlogs
  4. Travel Vlogs
  5. Fitness Vlogs
  6. Other Vlogs

#1 Personal Vlogs

विलॉगिंग शुरू करने के लिए आप को पेशेवर होने की जरूरत नहीं है अर्थात आप किसी फील्ड में एक्सपर्ट नहीं तो आप विलॉगिंग के जरिए अपनी पर्सनल राय दे सकते हैं.

मान लीजिए आपको स्वास्थ से संबंधित स्वास्थ्यवर्धक जानकारी हैं जो लोगों के लिए उपयोगी हैं तो जरूरी नहीं आप डॉक्टर हैं. आप अपनी नॉलेज को वीडियो के माध्यम से लोगों तक शेयर कर सकते हैं.

उदाहरण के लिए आज कई लोग अपने पर्सनल विलॉग पर अपने Daily Routine, Life Goals शेयर करते हैं. इस प्रकार आप ब्यूटी, सिंगिंग, डांसिंग इत्यादि जिसमें भी आपकी रुचि है. आप उस पर वीडियोज बनाकर विलॉगिंग शुरु कर सकते हैं.

#2 Funny Vlogs

यहां पर खुद के Funny Vlogs (कॉमेडी वाले) बना सकते हैं. आजकल इंटरनेट पर फनी विलॉग्स  बेहद पसंद किए जा रहे हैं. और कई ऐसे यूट्यूबर भी हैं जो विलॉगिंग के जरिए ही खूब हंसाने के साथ साथ नाम और पैसा कमा रहे हैं.

बात हो फनी विलॉग्स की तो आपने Prank Videos का नाम जरूर सुना होगा. तो आप भी फनी विलॉग्स बनाकर लोगों के मूड को ऑन कर सकते हैं.  किसी मुद्दे पर Funny Reaction क्या है? ऐसी वीडियोज भी देखना लोग पसंद करते हैं.

#3 Informational Vlogs

सामान्यतः लोग किसी वीडियो को इसलिए देखते हैं उस वीडियो से उन्हें कोई Information मिल रही हो या फिर एंटरटेनमेंट हो रहा हो.

तो अभी हमने बात की इंटरटेनमेंट की तो इसी प्रकार यदि आप दर्शकों को किसी भी टॉपिक पर चाहे मसलन; एजुकेशन, हेल्थ आदि किसी टॉपिक पर अपना एक इंफॉर्मेशनल Vlog बना सकते हैं.

आप इन वीडियोज को बिना कैमरा के सामने आए बगैर भी बना सकते हैं. जिसे हम Voiceover कहते हैं. इंफॉर्मेशन विलॉग्स में How to Videos, Review तथा किसी टॉपिक या Concept को Explain करने से संबंधित हो सकती हैं.

#4 Travel Vlogs/Travelogs

अक्सर आप यात्रा पर जाते हैं तो आपके लिए Vlogs बेहतरीन आइडिया है Vlogging स्टार्ट करने के लिए.

विलॉगिंग में ट्रेवल वीडियोज काफी पसंद की जाती हैं. ट्रैवल ब्लॉग्स के अंदर विलॉगर दर्शकों को वीडियोज के माध्यम से जहां भी घूमते हैं. उसका भ्रमण कराते हैं साथ ही उन स्थानों में क्या खास है, और किस तरह उस टूरिस्ट प्लेस में जाने से पूर्व हम तैयारी कर सकते हैं, कितना बजट चाहिए, क्या करना चाहिए क्या नहीं आदि प्रकार की वीडियोज Travel Vlogs के अंतर्गत आती हैं.

#5 Fitness Vlogs

आपको फिट रहना बेहद पसंद है. और आप अपनी बॉडी को फिट रखने के लिए जिम जाते हैं, एक्सरसाइज करते हैं. तो फिर आप एक Fitness Enthusiastic होने के नाते अपना एक फिटनेस विलॉग बना सकते हैं.

लेकिन आप सोच रहे हैं कि आखिर किस तरह शुरू करें तो इन टॉपिक्स पर आप अपना फिटनेस विलॉग बना सकते हैं.

जिम या घर में किस तरह वर्कआउट करना चाहिए?

आज आपने क्या खाया?

इस एक्सरसाइज को किस तरीके से करें?

कैसे बेहतर बॉडी बना कर खुद को ट्रांसफार्म किया जाए?

आदि टॉपिक्स पर एक फिटनेस विलॉग़ बना सकते हैं.

#6 Other Vlogs

इनके अलावा भी कई प्रकार के विलॉग़ होते हैं और आप किसी भी टॉपिक पर अपना विलॉग़ बना सकते हैं. नीचे कुछ पॉइंट दिए गए हैं जिनसे आपको विलॉग शुरू करने का आइडिया मिल सकता है

  • Q & A Video – जिसमें आप लोगों के सवालों का जवाब देते हैं.
  • Interview Vlogs – आप अपने Vlog Niche के अनुसार किसी बड़े यूट्यूबर या किसी काबिल व्यक्ति का इंटरव्यू अपने दर्शकों को दिखा सकते है.
  • Gaming Video – आजकल गेम्स खेलने के शौकीन वीडियोज बनाकर वीडियोज में काफी पॉपुलर हो रहे हैं.

विलॉगिंग से पैसे कैसे कमाते हैं – How to Make Money from Vlogging or YouTube in Hindi

  • Google Adsense
  • Sponsorship/Direct Advertising
  • Product Review
  • Affiliate Marketing
  • Selling Own Products

#1 Google Adsense

किसी भी ब्लॉग़र या फिर विलॉगर के लिए पैसा कमाने का शुरुआती तरीका होता है – Google Adsense.

आप यूट्यूब पर वीडियो बनाकर सबस्क्राइबर जोड़िए गूगल आपके लिए विज्ञापनदाता लाएगा. जिसके बदले में कुछ पैसा वो रख लेगा. बाकि आपको दे देगा.

यहाँ से पैसा कमाने के लिए आपके कम से कम 1,000 यूट्यूब सब्स्क्राइबर्स होने चाहिए और एक साल में 4,000 घंटे का वॉच टाइम चैनल पर होना चाहिए.

इसलिए, जमकर वीडियो बनाइए और गूगल से डॉलर आने का इंतजार करिए.

#2 Sponsorship or Direct Advertising

यहां भी आप विज्ञापन के जरिए ही पैसा कमाते है. लेकिन, विज्ञापनदाता आपको खुद ढूँढ़ने पड़ते है. इसलिए, यह वाला थोड़ा माथा खर्च करने वाला काम है. और इसके लिए आपका ऑड़ियंस नेटवर्क भी काफि बड़ा होना चाहिए.

आप विलॉग़ विषय से जुड़ी हुए इंडस्ट्री के लोगों से बात करते है और उनके किसी प्रोडक्ट या सेवा के बारे में वीडियो के अंदर बताते है. जिसके बदले में आपको पैसा मिलता है. यहाँ रेट आपकी गुडविल से तय होता है.

#3 Product Review

आप किसी प्रोडक्ट के बारे में अपने दर्शकों को जानकारी देते है. यह पूरा वीडियो सिर्फ और सिर्फ इस प्रोडक्ट के बारे में होता है. इसलिए, आपको स्पॉन्सरशिप अथवा डायरेक्ट एडवर्टाइजिंग की तुलना में ज्यादा पैसा मिलता है.

आपने यूट्यूब पर मोबाइल फोन, स्मार्ट स्पीकर, माइक आदि गैजेट्स के रिव्यू वीडियो देखे होंगे. ये सभी वीडियो पैड होते है. जिनका खर्चा कंपनी देती है.

# Affiliate Marketing

इसे साधारण भाषा में दलाली कहते है. यानि आप बिचौलिये बनकर पैसा कमाते है. आप किसी कंपनी का कोई प्रोडक्ट का विज्ञापन करते है जब लोग आपकी लिंक से उस प्रोडक्ट को खरिदते है तो आपको पहले से तय कमिशन मिल जाता है.

डोमेन, होस्टिंग, ई-बुक्स, एमेजन प्रोडक्ट्स, फ्लिपकार्ट प्रोडक्ट्स को आप कमिशन पर बेचकर पैसा कमा सकते है. बस आपको अपने विलॉग़ टॉपिक के अनुसार प्रोडक्ट चुनना है. और उसकी मार्केटिंग अपने चैनल पर करनी है.

#5 Sell Own Products

यदि आप ऊपर के चार तरीकों से पैसा नहीं कमाना चाहते है तो आप खुद के डिजिटल प्रोडक्ट्स ही बेचकर खूब पैसा कमा सकते है.

आप ई-बुक्स, डिजिटल कोर्सेस बनाकर दर्शकों को बेचकर पैसा कमा सकते है. लेकिन, यहाँ भी आपकी लोकप्रिया और स्वीकार्यता ही बिजनेस का निर्धारण करती है. इसलिए, पहले खुद को स्थापित करना पड़ता है.

ब्लॉगिंग और विलॉगिंग में अंतर – Different Between Blogging and Vlogging in Hindi?

ब्लॉगिंग और विलॉगिंग में अंतर

क्र. सं.ब्लॉगिंगविलॉगिंग
1.ब्लॉगिंग एक वृह्द टर्म है जिसका अर्थ होता है अपनी बात, अनुभव, हुनर को ब्लॉग़ बनाकर लोगों के साथ शेयर करना. विलॉगिंग, ब्लॉगिंग का एक स्वतंत्र प्रकार है. जिसमें अपनी बात केवल वीडियो बनाकर शेयर की जाती है.
2.ब्लॉगिंग में कोंटेट टेक्स्ट के अलावा मल्टीमीडिया (ग्राफिक्स, ओडियो, वीडियो) फॉर्मेट में हो सकता है. लेकिन, यहाँ पर कोंटेट सिर्फ वीडियो फॉर्मेट में ही तैयार किया और इसी फॉर्मेट में पब्लिश किया जाता है.
3.ब्लॉगिंग एक स्वतंत्र प्लैटफॉर्म यानि खुद के डोमेन नाम के साथ की जाती है. लेकिन, विलॉग़िंग में यह काम किसी वीडियो शेयरिंग प्लैटफॉर्म के ऊपर ही की जाती है. जैसे; यूट्यूब.
4.ब्लॉगिंग पर सारा कंट्रॉल ब्लॉगर का होता है. यानि आप मालिक होते है.  विलॉगिंग पर उसे पूर्ण स्वतंत्रता नही मिल पाती. कुछ बातों के लिए उसे वीडियो शेयरिंग प्लैटफॉर्म पर निर्भर रहना ही पड़ता है.
5.ब्लॉगिंग शुरु करने के लिए पहले कुछ निवेश करना पड़ता है. जैसे; डोमेन नेम, होस्टिंग आदि की जरूरत पड़ती है.मगर, विलॉगिंग की शुरुआत आप शून्य निवेश से कर पाते हैं. क्योंकि यूट्यूब जैसे प्लैटफॉर्म पर विलॉगिंग करने के लिए आपको जीमेल अकाउंट की जरूरत पड़ती है.
6.ब्लॉगिंग में सफल होने के लिए कुछ समय लगता है.विलॉगिंग में एक वीडियो आपको रातो-रात स्टार बना सकता है.
7.ब्लॉगिंग की मान्यता और स्वीकार्यता ज्यादा है. जिसे दुनियाभर में राजनेताओं से लेकर कॉर्पोरेट्स भी मार्केटिंग तथा बिजनेस बढ़ाने के लिए इस्तेमाल करते है.विलॉगिंग, चुंकि ब्लॉगिंग का ही हिस्सा है. इसलिए, इसकी स्वीकार्यता कम ही रहती है.

आपने क्या सीखा?

इस लेख में हमने आपको विलॉगिंग के बारे में पूरी जानकारी दी हैं. आपने जाना विलॉगिंग क्या होती है, विलॉगिंग कैसे करते है, विलॉगिंग से पैसे कैसे कमाते है?

साथ ही विलॉगिंग के बेस्ट टॉपिक्स तथा विलॉगिंग के लिए आवश्यक उपकरणों की जानकारी भी प्राप्त की है.

हमे उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा और आपके विलॉगिंग ज्ञान को बढ़ाने में सहायक होगा. और इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

#BeDigital

2 Comments

Leave a Comment