Articles

हैंकिग क्या हैं तथा इसके फायदे नुकसान की पूरी जानकारी हिंदी में

आधुनिक युग में कम्प्युटर और तकनीक का उपयोग तेजी से बढ रहा है. जिससे लगभग सारे में डिजिटल हो गए है. आप गाय का गोबर भी ऑनलाईन खरीद सकते है.

जितनी तेजी से हम तकनीक के आदी हो रहे है. उतनी ही तेज रफ्तार से साईबर क्राईम (ऑनलाईन गतिविधियों के माध्यम से किया जाने वाले एक अपराध) भी बढ रहे है.

इन साईबर क्राईम को अंजाम देती हैं – Hacking.

हैंकिग से आज हमारा कम्प्युटर आपका स्मार्टफोन भी सुरक्षित नही हैं. इसलिए हैंकिग के बारे में जानकारी होना जरूरी है.

इस लेख में हम आपको हैंकिग की पूरी जानकारी दे रहे हैं. अध्ययन की सुविधा के लिए हमने इस लेख को निम्न भागों में बांटा हैं.


 हैंकिग क्या हैं? What is Hacking in Hindi?

सीधे कहे तो हैंकिग एक तकनीकि चालाकी (A technology threat )हैं.

जब कोई व्यक्ति किसी उद्देश्य के लिए आपके System Function (कम्प्युटर, नेटवर्क, सर्वरआदि)में कमजोरी को ढूँढे या फिर System को अपने अनुसार Modify करके डाटा को चुरा लेता हैं, नष्ट कर देता हैं या फिर उसे बदल देता हैं, यह प्रक्रिया हैकिंग कहलाती है.

जिस व्यक्ति द्वारा यह तकनीकि चालाकि को अंजाम दिया जाता है उस व्यक्ति को हैकर कहते हैं.

हैकर आपके कम्प्युटर या नेटवर्क में विभिन्न प्रकार से सेंध लगाने की कोशिश करते हैं. इन हैंकिंग तकनीकों में

  1. पासवर्ड पता लगाना
  2. सर्वर या नेटवर्क में मौजूद कोई तकनीकि खामि के बारे में जानना
  3. विभिन्न प्रकार के एक जैसी वेबसाईटों के माध्यम से डाटा एकत्रि करना
  4. खराब और लेकिन उपयोगी सॉफ्टवेयर बनाकर कम्प्युटर की जानकारी चुराना और डाटा नष्ट करना
  5. आपके द्वारा टाईप किए गए शब्दों पर निगरानी रखना इस काम को Key Logging कहते हैं.

हैंकिग एक नकारात्मक शब्द हैं. और किसी गलत काम का ही बोध कराता हैं. यह बात सही भी है. क्योंकि अधिकतर हैंकिग गलत उद्देश्य से ही की जाती हैं. मगर इसका एक दूसरा पहलू भी हैं.

जिसके बारे में हम नीचे बात कर रहे है.


हैंकिग के विभिन्न प्रकार –Types of Hacking in Hindi

  1. Ethical Hacking
  2. Malicious Hacking

Ethical Hacking

Ethical Hacking, वह हैंकिग होती है जो जानबूझकर किसी सही उद्देश्य के लिए की जाती है. इस हैंकिग को White Hat एवं Network Penetration Tester आदि नाम से भी जाना जाता है.

इस प्रकार की हैंकिग में लोग नेटवर्क, सर्वर और सार्वजनिक सूचना प्रणालीयाँ, डाटा सेंटर आदि संभावित और मौजूद कमियों को ढूँढते है. जब हैकरों द्वारा कोई कमी ढूँढ ली जाती हैं तो उस कमी को Bug कहा जाता हैं.

एथिकल हैंकिग में किसी भी प्रकार का डाटा चुराया नही जाता है. ना नष्ट किया जाता हैं और ना ही बदला जाता हैं.

Ethical Hacking पूरी तरह कानूनी होती हैं और लोगों को संभावित खतरों से बचाने के लिए की जाती हैं. तथा कोई कमी मौजूद (Bug) है तो उसे दूर किया जा सके.

Malicious Hacking

वह हैंकिग, जो किसी गलत उद्देश्य से की जाती है और इसका तरीका गैर-कानूनी होता है, Malicious Hacking कहलाती हैं.

इस प्रकार की हैंकिग में आपका डाटा चुराया जा सकता हैं, उसे नष्ट किया जा सकता है. या उसका गलत इस्तेमाल भी किया जा सकता है.

आपके ईमेल अकाउंट को हैक करना, फेसबुक अकाउंट को हैक करना, बैंक अकाउंट की जानकारी चुराकर पैसे निकालना, आपके अकाउंट पर कब्जा करके उसका दुरुपयोग करना आदि काम Malicious Hacking में ही शामिल होते हैं.

मगर इसका सबसे बडा नुकसान सरकार और कंपनियों को भुगतना पडता हैं. क्योंकि इनके पास करोडों लोगों की कई प्रकार की जानकारी सेव रहती हैं. यह तालाब में बडी मछली होती हैं. हैकर इनके डाटा सेंटर, सर्वर, नेटवर्क को ही अधिक हैक करते हैं.

और सुरक्षा एंजेसियों, पुलिस, शेयर मार्केट, स्टॉक एक्सचेंज, परमाणु केंद्र, अंतरिक्ष शोध केंद्र आदि की वेबसाईट और डाटा को निशाना बनाते हैं.

अब तक हम सिफ हैंकिग के बारे में बात कर रहे थे. आइए, अब इस कार्य को करने वालों के बारे में भी बात करते है. और जानते हैं ये कौन लोग होते हैं जो इस प्रकार का गलत काम करते हैं.


हैकर किसे कहते हैं –Who is a Hacker?

What is a Computer Hacker in Hindi
Hacker

सरल शब्दों में कहे तो, जो लोग हैंकिग करते हैं उन्हे हैकर कहते हैं.

और तकनीकि भाषा में परिभाषित करे तो, वे लोग जो हमारे या किसी अन्य लोगों के कमप्युटर, वेबसाईट, सर्वर, नेटवर्क को Authorized तथा Unauthorized रूप से एक्सेस करते हैं या उसे किसी प्रकार का नुकसान पहुँचाते हैं, हैकर कहलाते हैं.

इनके पास अपने क्षेत्र की पूरी जानकारी होती हैं. और कम्प्युटर, हार्डवेयर, नेटवर्किंग, प्रोग्रामिंग़ से संबंधित पेशेवर लोग होते हैं.

प्रत्येक हैकर अपना कार्य किसी ना किसी उद्देश्य विशेष के लिए करता है. इसलिए इनका कार्य कानूनी एवं गैर-कानूनी दोनों प्रकार का हो सकता हैं. और हैकरों की जमात को कार्य उद्देश्य के आधार पर तीन वर्गों में बांटा गया है.


हैकर के प्रकार – Types of Hacker?

  1. White Hat Hacker
  2. Black Hat Hacker
  3. Grey Hat Hacker

White Hat Hacker

Certified Hackers को White Hat Hackers कहा जाता है. ये अपना काम अनुमती लेकर कानूनी दायरे में रहकर करते हैं. इनका उद्देश्य किसी भी प्रकार का नुकसान करना नही होता हैं.

ये हैकर सिस्टम में कमियों (Bugs) का पता लगाते हैं और उन्हे दूर करते हैं. तथा संभावित खतरे से बचाने के लिए डाटाबेस को मजबूत करते हैं.

इनका मुख्य उद्देश्य Loopholes को खोज निकाले और उन्हे दूर करें.

Black Hat Hacker

वे हैकर जो बिना किसी अनुमती के आपके सिस्टम या अन्य व्यक्तियों के सिस्टम में कमीयाँ ढूँढकर उनका गलत इस्तेमाल करते हैं. ये हैकर Certified भी होते हैं और नही भी हो सकते हैं.

ये सारा कार्य सिर्फ अपने फायदे के लिए करते हैं. और दूसरों का डाटा चुराकर उन्हे ब्लैकमैल भी करते हैं. ये अपने ज्ञान का गलत फायदा उठाते हैं.

इनका मुख्य उद्देश्य सिस्टम में कमिया ढूँढना होता है ताकि वे इस सिस्टम में मौजूद डाटा तक किसी तरह पहुँच सके और उसका अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर सके.

Grey Hat Hacker

ये हैकर दोनों प्रकार के हैकरों के गुण रखते हैं. इसलिए इन्हे Gray Hat Hacker की संज्ञा दी गई हैं.

ये हैकर सिस्टम में मौजूद कमियाँ पता लगाते हैं और उन्हे दूर भी करते हैं इसलिए इन्हे White Hat Hacker भी कहते हैं. और जब ये इन कमियों के द्वारा उस सिस्टम में मौजूद डाटा का इस्तेमाल अपने निजी स्वार्थ के लिए करते है तब ये Black Hat Hacker की श्रेणी में गिने जाते हैं.

ये जानबूझकर उस सिस्टम में ऐसे Loopholes बनाते हैं ताकि ये उनका इस्तेमाल अपने फायदे के लिए कर सके. और अपने मालिकों को ब्लैकमैल करते है और उनसे मूँह मांगा पैसे ऐंठने का काम करते हैं.

इस प्रकार के हैकरों में दोनों विशेषताए पाई जाती हैं. इसलिए इन्हे Gray Hat Hacker कहा जाता हैं.


एथिकल हैंकिग के फायदे-नुकसान – Ethical Hacking Advantages and Disadvantages in Hindi

एथिकल हैंकिग के अपने फायदे और नुकसान है. और ये बात हैकर के इरादे पर निर्भर करती हैं कि वह हैंकिग किस उद्देश्य के लिए कर रहा हैं. हम यहाँ हैंकिग से होने वाले कुछ फायदे और नुकसान दोनों के बारे में बता रहे है.

फायदें –Advantages

  • Ethical Hacking की सहायता से CBI, पुलिस, स्टॉक एक्सचेंज, परमाणु केंद्र, स्पेस रिसर्च केंद्र पर संभावित खतरों तथा इनके नेटवर्क, डाटा सेंटर, सेस्टम में छोटी-मोटी कमियों के बारे में पता लगाया जा सकता हैं. और समय रहते उनसे होने वाले खतरे से बचा जा सकते हैं.
  • साईबर क्राईम की रोकथाम संभव हो पाती है.
  • किसी सिस्टम में व्याप्त कमियों को ढूँढकर (Bugs) उन्हे दुरुस्त किया जा सकता हैं.
  • और अपने सिस्टम को Black Hat Hackers से सुरक्षित रखा जा सकता हैं.

नुकसान –Disadvantages

  • Ethical Hacking की सहायता से ही Black Hat हैकर का निर्माण होता हैं. जो Unauthorized तरीके से डाटाबेस को हैक करते हैं.
  • ये बैंक डाटाबेस को एक्सेस करके भारी आर्थिक नुकसान कर सकते हैं.
  • ये अपने निजी स्वार्थों के लिए डाटा को चुराकर उसका कई प्रकार से फायदा ले सकते हैं.

Top 10 Ethical Hackers Name

  1. Neel Mehta
  2. SanwayVed
  3. Pinkie Pie
  4. Jordan Wiens
  5. James Forshaw
  6. Joanna Rutkowska
  7. Sherri Sparks
  8. Charlie Miller
  9. Joe Stewart
  10. Mark maiffret

Top 10 Black Hat Hackers Name

  1. Albert Gonzalez
  2. Kevin Poulsen
  3. Robert Tappan Morris
  4. Michael Calce
  5. George Hotz
  6. Kevin Mitnick
  7. Vladimir Levin
  8. Mathew Bevan and Richrad Pryce
  9. Michael Cacle (Mafia Boy)
  10. Adrian Lamo

आपने क्या सीखा?

इस लेख में हमने आपको हैंकिग के बारे में पूरी जानकारी दी हैं. आपने जाना कि हैंकिग किसे कहते हैं? हैकिग किसे कहते हैं? हैंकि के फायदे-नुकसान के बारे में भी आपने जाना हैं.

हमे उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा. और इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर करके उन्हे भी हैंकिग की जानकारी जरूर पहुँचाए.

#BeDigital

8 Comments

  • I really appreciate this post. I’ve been looking all over for this! Thank goodness I found it on this blog. You have made my day! I think this is an engaging and eye-opening material. Thank you so much for caring about your content and your readers.

Leave a Comment